back
img
Shivraj Singh Chouhan
@chouhanshivraj
आदरणीय मोतीलाल जी शत्रु और मित्र पर समान भाव, मान-सम्मान में सम रखने वाले थे। युवा मोर्चा के दौरान हमने कई आंदोलन किये, तब वो हमें बुलाते थे और बात करते थे। आम आदमी के बेहद निकट थे, जिस पद पर रहे उसे पूरी कर्तव्यनिष्ठा के साथ निभाया।
user
@chouhanshivraj पर जवाब दे रहे है
user
type
audio
link
link
browse
0/350