back
user
🙏 Jay shri ram🙏 Gm निर्मल मन जन सो मोहि पावा। मोहि कपट छल छिद्र न भावा॥ भगवान श्री राम सुग्रीव से कहते हैं : हे सुग्रीव! जो आदमी निर्मल अंतःकरणवाला होगा, वही मुझको पावेगा, क्योंकि मुझको छल, छिद्र और कपट कुछ भी अच्छा नहीं लगता॥
user
Replying to @peeku79
0/400