back
user
हाँ_मै नही चाहती बंधन_सात जनमो वाला न चाहती ऐसा बंधन जहां घुटता है दम मेरे विचारों का जहां छट_पटाहट हो खुदको काबिल न बना पाने को क्योंकि मै_स्त्री_नई_एक_पुरुष_बनना_चाहती हूं अगले जनम मे हाँ_तब तुम आना मेरी जीवनसंगिनी बनकर जो तुम मुझे न दे सके प्यार मे वह तुम पर लुटाना चाहती हूं वह तुमको समझना_समर्पण_वह सफलता की ओर बढ़ते तेरे कदम #हां_मै_चाहती_हूं_एक_पुरुष_बनना जो तुमहे प्रेम से परिपूर्ण कर दे🧏🥰
user
Replying to @DrGudiyaa
0/400